“जिंदगी की नयी शुरुआत” – Best Article in Hindi | यह लेख आपकी जिंदगी बदल सकता हैं।

0

Best short articles in Hindi | Best hindi articles on life | Best article in hindi for Magazine | Success articles in Hindi | Positive Articles in Hindi | Life Articles in hindi | Hindi article for school Magazine class 10 | Best article in Hindi for School magazine

Best Article in Hindi “हर कोई जन्म से ही किसी ना किसी काम में Champion होता है I बस पता चलने की देर होती है।” जीवन (Life) में हमारे पास अपने लिए मात्र 3500 दिन (9 वर्ष व 6 महीने) ही होते है।

अगर आप इस पोस्ट के बारे में हमसे कुछ पूछना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं, हम आपका जवाब जल्द ही देंगे। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Join Youtube ChannelClick Here
Join Telegram ChannelClick Here
Website Home PageClick Here

अगर बात वर्ल्ड बैंक की किया जाये तो World Bank ने एक इन्सान की औसत आयु 78 वर्ष माना है। तथा इसके आधार पर यह आकलन किया जिसके अनुसार हमारे पास अपने लिए मात्र 9 वर्ष और 6 महीने ही होते है।

Best Article in Hindi

Best Article in Hindi: इस गणना के आधार से औसतन 29 वर्ष सोने में, 3-4 वर्ष शिक्षा में, 10-12 वर्ष रोजगार में, 9-10 वर्ष मनोरंजन में, 15-18 वर्ष­ अन्य रोजमरा के कामों में जैसे खाना पीना, यात्रा, नित्य कर्म, घर के काम इत्यादि में खर्च हो जाते है| इस तरह हमारे पास अपने सपनों को पूरा करने व कुछ कर दिखाने के लिए मात्र 3500 दिन अथवा 84,000 घंटे ही होते है।

Best Article in Hindi

संसार की सबसे मूल्यवान वस्तु समय होता है लेकिन वर्तमान में ज्यादातर लोग खासकर Students इस बात को भूल चुके है। क्योकि अधिकतर विद्यार्थीयो को देखा जाये तो वे नई नई टेक्नोलॉजी के आ जाने से उनकी जिंदगी बहुत बीजी हो गए है। खासकर मोबाइल ने उनके करियर में बड़ा बांधा बन गया है। कोई फिल्म देखने में तो कोई गेम खेलने में तो कोई सोशल मीडिया पर व्यस्त है।

इससे आप उनके भविष्य का अंदाजा लगा सकते है। इस तरह वे अपना अनमोल समय गवा देते है और बाद में वे इंतजार कर रहे होते है कि उनके जीवन में कोई चमत्कार होगा, जो उनकी निराशामय जिंदगी को बदल देगा।

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स (Best Article in Hindi 2022)

इस शुरुआत के लिए हमें अपनी सोच व मान्यताओ को बदलना होगा, क्योंकि “हमारे साथ वही होता है जो हम मानते है।” चमत्कार आज व अभी से शुरू होगा और उस चमत्कार को करने वाले व्यक्ति आप ही है, क्योंकि उस चमत्कार को आप के अलावा कोई दूसरा व्यक्ति नहीं कर सकता।

वैज्ञानिकों के अनुसार भौंरे का शरीर बहुत भारी होता है, इसलिए विज्ञान के नियमो के अनुसार वह उड़ नहीं सकता| लेकिन भौंरे को इस बात का पता नहीं होता एंव वह यह मानता है की वह उड़ सकता है इसलिए वह उड़ पाता है।

रियल लाइफ स्टोरी इन हिंदी

सबसे पहले हमें इस गलत धारणा को बदलना होगा कि हमारे साथ वही होता है जो भाग्य में लिखा होता है| क्योंकि ऐसा होता तो आज हम ईश्वर की पूजा न कर रहे होते बल्कि उन्हें बदुआएं दे रहे होते। हमारे साथ जो कुछ भी होता है उसके जिम्मेदार हम स्वंय होते है इसलिए खुश रहना या ना रहना हम पर ही निर्भर करता है।

भगवान उसी की मदद करते है जो अपनी मदद खुद करता है। अगर कोई व्यक्ति यह सोचता है की हमारे साथ जो कुछ भी होता है, वह हमारे हाथ में नहीं है तो वह व्यक्ति या तो इस गलत धारणा को बदल दे।

best short articles in hindi

आत्मविश्वास से आशय “स्वंय पर विश्वास एंव नियंत्रण” से है। हमारे जीवन में आत्मविश्वास का होना उतना ही आवश्यक है जितना किसी फूल (Flower) में खुशबू (सुगंध) का होना, आत्मविश्वास के बगैर हमारी जिंदगी एक जिन्दा लाश के समान हो जाती है| कोई भी व्यक्ति कितना भी प्रतिभाशाली क्यों न हो वह आत्मविश्वास के बिना कुछ नहीं कर सकता।

best hindi articles to read

आत्मविश्वास ही सफलता की नींव है, आत्मविश्वास की कमी के कारण व्यक्ति अपने द्वारा किये गए कार्य पर संदेह करता है। (Best Article in Hindi) आत्मविश्वास उसी व्यक्ति के पास होता है जो स्वंय से संतुष्ट होता है एंव जिसके पास दृड़ निश्चय, मेहनत व लगन, साहस, वचनबद्धता आदि संस्कारों की सम्पति होती है|

स्वंय पर विश्वास रखें, लक्ष्य बनायें एंव उन्हें पूरा करने के लिए वचनबद्ध रहें| जब आप अपने द्वारा बनाये गए लक्ष्य को पूरा करते है तो यह आपके आत्मविश्वास को कई गुना बढ़ा देता है। खुश रहें, खुद को प्रेरित करें, असफलता से दुखी न होकर उससे सीख लें क्योंकि “experience हमेशा bad experience से ही आता है।

Best Article in Hindi 2022

सकारात्मक सोचें विनम्र रहें एंव दिन की शुरुआत किसी अच्छे कार्य से करें इस दुनिया में नामुनकिन कुछ भी नहीं है। (Best Article in Hindi) आत्मविश्वास का सबसे बड़ा दुशमन किसी भी कार्य को करने में असफलता होने का डर है एंव डर को हटाना है तो वह कार्य अवश्य करें जिसमें आपको डर लगता है।
सच बोलें, ईमानदार रहें, धूम्रपान न करें, प्रकृति से जुड़े, अच्छे कार्य करें जरुरतमंद की मदद करें।

best hindi articles on life

क्योंकि ऐसे कार्य आपको सकारात्मक शक्ति देते हैं वही दूसरी ओर गलत कार्य एंव बुरी आदतें हमारे आत्मविश्वास को गिरा देते हैं|
वह कार्य करें जिसमें आपकी रुचि हो एंव कोशिश करें कि अपने करियर (Best Article in Hindi) को उसी दिशा में आगे ले जिसमें आपकी रुचि हो|
वर्तमान में जियें, सकारात्मक सोचें, अच्छे मित्र बनायें, बच्चों से दोस्तीं करें, आत्मचिंतन करें|

शार्ट मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी (Best Article in Hindi 2022)

स्वतंत्रता का अर्थ स्वतन्त्र सोच एंव आत्मनिर्भरता से हैं। “हमारी खुशियों का सबसे बड़ा दुश्मन निर्भरता ही है एंव वर्तमान में खुशियाँ कम होने का कारण निर्भरता का बढ़ना ही है।”

सबसे बड़ा यही रोग क्या कहेंगे लोग ज्यादातर लोग कोई भी कार्य करने से पहले कई बार यह सोचते है की वह कार्य करने से लोग उनके बारे में क्या सोचेंगे या क्या कहेंगे और इसलिए वे कोई निर्णय ले ही नहीं पाते एंव सोचते ही रह जाते है।

inspirational articles in hindi

समय उनके हाथ से पानी की तरह निकल जाता है| ऐसे लोग बाद में पछताते हैं। इसलिए दोस्तों ज्यादा मत सोचिये जो आपको सही लगे वह कीजिये क्योंकि शायद ही कोई ऐसा कार्य होगा जो सभी लोगों को एक साथ पसंद आये।

वर्तमान में ज्यादातर लोगों की खुशियाँ परिस्थितियों पर निर्भर हैं| ऐसे लोग अनुकूल परिस्थिति में खुश एंव प्रतिकूल परिस्थियों में दुखी हो जाते है| उदाहरण के लिए अगर किसी व्यक्ति का कोई काम बन जाता है तो वह खुश एंव काम न बनने पर वह दुखी हो जाता है।

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी (Best Article in Hindi)

हर परिस्थिति में खुश रहें क्योंकि प्रयास करना हमारे हाथ में है लेकिन परिणाम अथवा परिस्थिति हमारे हाथ में नहीं है| परिस्थिति अनुकूल या प्रतिकूल कैसी भी हो सकती है लेकिन उसका response अच्छा ही होना चाहिए क्योंकि response करना हमारे हाथ में है।

निर्भरता ही खुशियों की दुशमन है इसलिए जहाँ तक हो सके दूसरों से अपेक्षाओं कम करें, अपना कार्य स्वंय करें एंव स्वालंबन अपनाएं दूसरों के कर्मों या विचारों से दुखी नहीं होना चाहिए क्योंकि दूसरों के विचार या कर्म हमारे नियंत्रण में नहीं है। अगर आप उस बातों या परिस्थियों की वजह से दुखी हो जाते है जो आपके नियंत्रण में नहीं है तो इसका परिणाम समय की बर्बादी व भविष्य पछतावा है।

Also Read : Bihar Police Constable Ki Taiyari Kaise Karen 2021 – बिहार पुलिस कांस्टेबल की तैयारी

सफलता की प्रेरणादायक कहानियां

हमें दिन में 70,000 से 90000 विचार आते है और हमारी सफलता एंव असफलता इसी विचारों की गुणवता पर निर्भर करती हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार ज्यादातर लोगों का 70% से 90% तक समय भूतकाल भविष्यकाल एंव व्यर्थ की बातें सोचने में चला जाता है। भूतकाल हमें अनुभव देता है एंव भविष्यकाल के लिए हमें (योजना) करनी होती है।

लेकिन इसका मतलब ये नहीं की हम अपना सारा समय इसी में खर्च कर दें। हमें वर्तमान में ही रहना चाहिए और इसे best बनाना चाहिए क्योंकि न तो भूतकाल एंव न ही भविष्यकाल पर हमारा नियंत्रण है। अगर खुश रहना है एंव सफल होना है तो उस बारे में सोचना बंद कर दें जिस पर हमारा नियंत्रण न हो।

प्रेरणादायक हिंदी कहानियां PDF (Best Article in Hindi)

किसी विद्वान् ने कहा है की कामयाबी, मेहनत से पहले केवल शब्दकोष में ही मिल सकती है। मेहनत का अर्थ केवल शारीरिक काम से नहीं है, मेहनत शारीरिक व मानसिक दोनों प्रकार से हो सकती है| अनुभव यह कहता है की मानसिक मेहनत, शारीरिक मेहनत से ज्यादा मूल्यवान होती है

कुछ लोग लक्ष्य तो बहुत बड़ा बना देते है लेकिन मेहनत नहीं करते और फिर अपने अपने लक्ष्य को बदलते रहते है। ऐसे लोग केवल योजना बनाते रह जाते है।

Short Motivational Story in Hindi for success

मेहनत व लगन से बड़े से बड़ा मुश्किल कार्य आसान हो जाता है| अगर लक्ष्य को प्राप्त करना है तो बीच में आने वाली बाधाओं को पार करना होगा, मेहनत करनी होगी, बार बार दृढ़ निश्चय से कोशिश करनी होगी। “असफल लोगों के पास बचने का एकमात्र साधन यह होता है कि वे मुसीबत आने पर अपने लक्ष्य को बदल देते है।

best hindi articles on life

कुछ लोग ऐसे होते है जो मेहनत तो करते है लेकिन एक बार विफल होने पर निराश होकर कार्य को बीच में ही छोड़ देते है इसलिए मेहनत के साथ साथ लगन व दृढ़ निश्चय (Commitment) का होना भी अति आवश्यक है। (Best Article in Hindi) अगर कोई व्यक्ति बार बार उस कार्य को करने पर भी सफल नहीं हो पा रहा तो इसका मतलब उसका कार्य करने का तरीका गलत है एंव उसे मानसिक मेहनत करने की आवश्यकता है।

Give us Your Feedback

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट सेक्शन में लिखकर जरूर बताएं। ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले। अधिक जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहें।

अगर आप इस पोस्ट के बारे में हमसे कुछ पूछना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं, हम आपका जवाब जल्द ही देंगे। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Join Youtube ChannelClick Here
Join Telegram ChannelClick Here
Join Us on FacebookClick Here
Follow on InstagramClick Here
Website Home PageClick Here

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here