Education

शिक्षा (Education) का क्या अर्थ है एवं इसके क्या कार्य हैं?

व्यापक अर्थ में शिक्षा (Education) किसी समाज में सदैव चलने वाली सोद्देश्य सामाजिक प्रक्रिया है जिसके द्वारा मनुष्य की जन्मजात शक्तियों का विकास, उसके ज्ञान एवं कौशल में वृद्धि एवं व्यवहार में परिवर्तन किया जाता है और इस प्रकार उसे सभ्य, सुसंस्कृत एवं योग्य नागरिक बनाया जाता है।

शिक्षा (Education) का क्या उद्देश्य है?

शिक्षा मनुष्य के भीतर अच्छे विचारों का निर्माण करती है, मनुष्य के जीवन का मार्ग प्रशस्त करती है। बेहतर समाज के निर्माण में सुशिक्षित नागरिक की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। महात्मा गांधी – “शिक्षा (Education) से मेरा का तात्पर्य बालक और मनुष्य के शरीर, मन तथा आत्मा के सर्वांगीण एवं सर्वोत्कृष्ट विकास से है।

शिक्षा (Education) की विशेषता क्या है?

शिक्षा मनुष्य को सभ्य बनाने का कार्य करती हैं, शिक्षा (Education) प्राप्त कर मनुष्य समाज के साथ समायोजन कर अनुशासन के साथ जीवनयापन करता हैं। शिक्षा (Education) मनुष्य को आदर्शवादी बनाती हैं और उसमें नैतिक-मूल्यों का विकास करती हैं। शिक्षा (Education) प्राप्त कर व्यक्ति अपनी जन्मजात शक्तियों एवं योग्यताओं से परिचित होता हैं।

शिक्षण से आप क्या समझते हैं?

शिक्षण एक त्रियामी प्रक्रिया है, जिसमें शिक्षक और छात्र, पाठ्यक्रम के माध्यम से अपने स्वरूप को प्राप्त करते हैं। अर्थात किसी विषय वस्तु को माध्यम बनाकर शिक्षक एवं शिक्षार्थी के बीच विचारों के आदान-प्रदान या परस्पर अंतःप्रक्रिया को ही हम शिक्षण कहते हैं.